Headlinesझारखंड

एक युवक को एक डैम में डूबने से मौत हो गयी। वह युवक मां-बाप का इकलौता पुत्र था। वह एक नया जाल एक बोरे में लेकर डैम में मछली मारने के उद्देश्य से आया था।

एक युवक को एक डैम में डूबने से मौत हो गयी। वह युवक मां-बाप का इकलौता पुत्र था। वह एक नया जाल एक बोरे में लेकर डैम में मछली मारने के उद्देश्य से आया था।

गढ़वा : एक युवक को एक डैम में डूबने से मौत हो गयी। वह युवक मां-बाप का इकलौता पुत्र था। वह एक नया जाल एक बोरे में लेकर डैम में मछली मारने के उद्देश्य से आया था। डैम के किनारे पर अपना कपड़ा खोल कर डैम में गया, किन्तु बाहर न आ सका।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार डूब रहा युवक मदद के लिए बार-बार हाथ ऊपर कर रहा था। हालाकि कुछ लोगों द्वारा डूबते युवक को रस्सी से निकालने का प्रयत्न भी किया गया, किन्तु सारा प्रयत्न बेकार साबित हुआ। डैम में अधिक पानी होने के कारण उसे बचाया नहीं जा सका।

ये भी पढ़ें – बॉलीवुड के महानायक अमिताभ और उनके बेटे अभिषेक बच्चन कोरोना से संक्रमित, मुंबई के नानावटी अस्पताल में भर्ती

 

युवक के डुबने की खबर फैलती गयी। धीरे-धीरे लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। बता दें कि यह घटना, कांडी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्रामपंचायत- चटनियां में स्थित डैम की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पतहरिया पंचायत के नावाडीह गांव निवासी- कामेश्वर चौहान का 35 वर्षीय पुत्र- धर्मेंद्र चौहान उर्फ पिन्टू चौहान अपने घर से तकरीबन 15 किमी दूर उक्त डैम में जाल लेकर मछली पकड़ने आया था। पिंटू शादी-शुदा युवक था। उसकी एक छोटी बेटी भी है।

 

स्थानीय गोताखोरों ने 5 घंटों से पानी मे शव की खोज करते रहे, किन्तु असफलता ही हाथ लगी। कांडी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी सह अंचलाधिकारी- जोहन टुड्डू ने पलामू जिले के भजनियां गांव से गोताखोरों को बुलाया। गोताखोरों ने आधा घंटा में ही मृतक का शव ढूंढ लिया। कांडी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गढ़वा भेजा।

भाजपा नेता- रामलला दुबे ने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी से उक्त मृतक के परिवार को सरकारी लाभ दिलाने के सम्बंध बात-चीत की। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी- जोहन टुड्डू ने कहा कि मृतक के आश्रित को आपदा राहत कोष से चार लाख रुपए, विधवा पेंशन व भीमराव अम्बेडकर योजना के तहत एक आवास दिया जाएगा। मौके पर- कांडी थाना प्रभारी- राम अवतार, प्रमुख प्रतिनिधि- पिंकू पांडेय, कांडी मुखिया- विनोद प्रसाद सहित हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें – जज हो, मंत्री हो या फिर कोई अधिकारी, सख्ती से करायें लॉकडाउन के नियमों का पालन : झारखंड हाइकोर्ट

संवाददाता- विवेक चौबे

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button