अंतरराष्ट्रीय खबरें

क्या सुपरपावर को तबाह करके ही मानेगा कोरोना? अमेरिका में 24 घंटे में गई 3176 की जान, मौत का आंकड़ा 50 हजार के करीब

कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में जारी है, मगर इसका सबसे ज्यादा खौफनाक असर अमेरिका पर देखने को मिल रहा है।

कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में जारी है, मगर इसका सबसे ज्यादा खौफनाक असर अमेरिका पर देखने को मिल रहा है। अमेरिका में कोरोना वायरस ने करीब 50 हजार लोगों की जान ले लही है। वहीं, एक दिन में कोरोना से 3176 लोगों की मौत से गुरुवार का दिन अमेरिका के लिए सबसे घातक बन गया। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में अमेरिका में कोरोना वायरस ने 3176 लोगों की जिंदगियां छीन ली हैं।

बाल्टीमोर स्थित जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के लेटेस्ट आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना वायरस से अब तक करीब 49,759 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 866,646 के कन्फर्म केस आ चुके हैं। गुरुवार को कोरोना वायरस के 26,971 मामलों की पुष्टि हुई। बता दें कि अमेरिका में मौत का आंकड़ा काफी तेजी से बढ़ रहा है।

दुनियाभर में कोरोना का कहर

वहीं, कोरोना वायरस के दुनियाभर में कहर की बात करें तो फिलहाल कोविड-19 के 2,718,139 केस आ चुके हैं और 190,635 लोगों की मौतें भी हो चुकी हैं। इसके अलावा, 745,500 लोग रिकवर भी हो चुके हैं। कोरोना से मौत के मामलों में अमेरिका के बाद इटली और स्पेन का नंबर आता है। इटली में जहां 25,549 लोगों की मौतें हो चुकी हैं, वहीं स्पेन में 22,157 लोगों ने जान गंवा दी है।

हम पर हमला हुआ

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को व्हाइट हाउस में डेली ब्रीफिंग के दौरान कहा था, ‘हम पर हमला हुआ। यह हमला था। यह कोई फ्लू नहीं था। कभी किसी ने ऐसा कुछ नहीं देखा, 1917 में ऐसा आखिरी बार हुआ था।’  ट्रंप कई हजार अरब डॉलर के प्रोत्साहन पैकेजों के परिणामस्वरूप बढ़ते अमेरिकी राष्ट्रीय ऋण के बारे में किए एक सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन वैश्विक महामारी से प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित हुए लोगों और उद्योगों की मदद के लिए सामने आया है।  उन्होंने कहा, ‘हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। क्या है? मुझे हमेशा हर चीज की चिंता रहती है। हमें इस समस्या से पार पाना ही होगा।’

हम फिर से मजबूत होंगे
ट्रंप ने कहा, ‘विश्व के इतिहास में हमारी अर्थव्यवस्था सबसे बड़ी रही है…. चीन से बेहतर, किसी भी अन्य देश से बेहतर।’ उन्होंने कहा, ‘हमने पिछले तीन साल में इसे खड़ा किया और फिर अचानक एक दिन उन्होंने कहा कि तुम्हे इसे बंद करना होगा। अब, हम इसे दोबारा खोल रहे हैं और हम बेहद मजबूत होगें लेकिन दोबारा खोलने के लिए आपको उस पर कुछ धन लगाना होगा।’  उन्होंने कहा, ‘हमनें अपनी एयरलाइन्स बचा लीं। हमनें कई कम्पनियां बचा लीं, जो बड़ी कम्पनियां हैं और दो महीने पहले उनका बेहतरीन साल चल रहा था… और फिर अचानक से बाजार से बाहर हो गईं।’ ट्रंप ने कहा कि देश में नए मामलों में लगातार गिरावट आ रही है।

source by: https://www.livehindustan.com

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button