Headlinesअंतरराष्ट्रीय खबरें

दिल्ली में कल से शुरू होगी भारत-अमेरिका के बीच महत्वपूर्ण बैठक, दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्री होंगे शामिल

दिल्ली में कल से शुरू होगी भारत-अमेरिका के बीच महत्वपूर्ण बैठक, दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्री होंगे शामिल

भारत और अमेरिका के बीच सोमवार और मंगलवार टू-प्लस-टू वार्ता होनी है। वार्ता में शामिल होने के लिए अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर नई दिल्ली आएंगे। अमेरिकी चुनाव के बीच हो रही इस वार्ता में दोनों पक्ष कई मुद्दों पर अपनी बात मनवाने का प्रयास करेंगे। अमेरिका कुछ ज्यादा हासिल करने का प्रयास करेगा। जबकि भारत अपने हितों पर ठोस भरोसा चाहता है।

अमेरिका भारत से बढ़ते रणनीतिक संबंधों को सामरिक सहयोग के स्तर पर ले जाना चाहता है। व्यापार से लेकर निवेश तक कई छूट की इच्छा अमेरिकी पक्ष ने जताई है। एलएसी पर तनाव के बीच अमेरिका अपने हथियार भारत को देने को तैयार है, लेकिन रूस से भारत के समझौतों को लेकर उसकी कुछ चिंताएं हैं। वहीं, भारत चाहता है कि बहुध्रुवीय युग की वास्तविकता के मद्देनजर भारत-अमेरिका के रणनीतिक और सामरिक संबंध नई ऊंचाइयों को छुए, साथ ही इससे भारत के परंपरागत मित्र देशों के संबंध प्रभावित न हों।

समझौतों पर भारत का रुख सकारात्मक
सूत्रों ने कहा, वार्ता में भारत के अमेरिका के साथ ‘बेसिक एक्सचेंज एंड को-ऑपरेशन एग्रीमेंट’ (बेका) पर आगे बढ़ने की संभावना है। इसे लेकर बात चल रही है। रक्षा क्षेत्र में नए समझौतों को लेकर भारत का रुख भी सकारात्मक है। हालांकि, भारत चाहता है कि अमेरिका द्वारा अपने प्रतिद्वंद्वियों के विरोध हेतु बनाए गए दंडात्मक अधिनियम- काटसा से भारत को अलग रखा जाए। खासतौर पर रूस से एस- 400 डील सहित अन्य रक्षा समझौतों पर भारत अमेरिका से छूट और स्पष्ट आश्वासन चाहता है।

रक्षा सौदों पर प्रगति और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की उम्मीद
सूत्रों ने कहा बैठक में क्षेत्रीय मुद्दों पर काफी चर्चा होगी। इनमें सबसे प्रमुख अफगान शांति वार्ता का मामला है। इसमें भारत की भूमिका भी अहम है। एलएसी पर चीन से तनाव के अलावा दक्षिण चीन सागर का मुद्दा भी बैठक में उठेगा। भारत अमेरिका से कई रक्षा उपकरण खरीद रहा है। सूत्रों ने कहा, रक्षा सौदों को लेकर कुछ और ठोस प्रगति सामने आ सकती है। पिछले दिनों जिस तरह से भारत अमेरिका के संबंध आगे बढ़े हैं उसे देखते हुए बैठक से सकारात्मक नतीजों की उम्मीद की जा रही है।

source by : https://www.livehindustan.com/

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: