Headlinesझारखंडट्रेंडिंग

Jharkhand News : यशवंत सिन्हा को चोट, द्रौपदी मुर्मू को क्यों दिया वोट; अब विधायकों की ‘अंतरात्मा’ टटोल रही कांग्रेस

Jharkhand News : राष्ट्रपति चुनाव में झारखंड में हुई क्रॉस वोटिंग के बाद अब कांग्रेस पार्टी यह पता लगाने में जुटी है कि किन विधायकों ने यशवंत सिन्हा को चोट देकर एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया।

Jharkhand News : राष्ट्रपति चुनाव में झारखंड में हुई क्रॉस वोटिंग के बाद अब कांग्रेस पार्टी यह पता लगाने में जुटी है कि किन विधायकों ने यशवंत सिन्हा को चोट देकर एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया। विधायकों की ‘अंतरात्मा’ टटोलने के लिए झारखंड प्रभारी अविनाश पांडेय दिल्ली से रांची पहुंचे हैं। वह एक-एक विधायकों से बात करके उनके ‘मन की बात’ पूछ रहे हैं।

कांग्रेस विधायक दल की एक साथ तय बैठक गुरुवार को नहीं हो सकी। अविनाश पांडेय ने विधायकों से वन टू वन मुलाकात की। उन्होंने सभी विधायकों से जानना चाहा कि राष्ट्रपति चुनाव में पार्टी लाइन से अलग क्रॉस वोटिंग क्यों की। इस पर विधायकों ने भी क्रॉस वोटिंग नहीं करने की बात कही। वन टू वन में 14 विधायक पहुंचे और अपनी बात रखी। राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग हुई है। कांग्रेस के एक-दो नहीं, बल्कि नौ से 10 विधायकों ने विपक्ष के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की जगह द्रौपदी मुर्मू को वोट किया। बावजूद इसके पार्टी के कोई विधायक अब क्रॉस वोटिंग किए जाने से इनकार कर रहे हैं। वन टू वन में कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर भी मौजूद थे।

प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने बैठक के बाद कहा कि कांग्रेस पार्टी गांधी विचाराधारा के तहत लड़ाई लड़ती है। यह पहली बार नहीं हुआ है कि पार्टी प्रभारी अविनाश पांडेय रांची आए हों और विधायकों से वन टू वन बात की हों। क्रॉस वोटिंग को लेकर प्रभारी अविनाश पांडेय ने सभी विधायकों की मनोस्थिति को जानना चाहा। वे जानना चाह रहे थे कि ऐसी कौन-सी परिस्थिति थी, जिसके कारण विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। जो भी बातें निकलकर सामने आएंगी, उस पर संगठन स्तर पर चर्चा होगी।

मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में किसने क्रॉस वोटिंग की, यह कोई नहीं जानता। वन टू वन मीटिंग में पार्टी प्रभारी अविनाश पांडेय ने पार्टी की मजबूती पर राय मांगी। इस पर उन्होंने अपने विचार दे दिए हैं। मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि वन टू वन बैठक में पार्टी की मजबूती को लेकर सुझाव मांगा गया, जिसमें अपनी राय दे दी है। क्रॉस वोटिंग पर बोलने के लिए वे पार्टी के अधिकृत प्रवक्ता नहीं हैं। उनका जवाब देना कहीं से सही नहीं है।

क्या बोले विधायक
विधायक कुमार जयमंगल ने कहा कि अगर किसी विधायक ने क्रॉस वोटिंग की है तो यह सवाल प्रभारी से पूछना चाहिए। संविधान विधायकों को अधिकार देता है कि राष्ट्रपति चुनाव में वे किसी प्रत्याशी को वोट कर सकेंगे, लेकिन अगर विधायक कांग्रेस पार्टी से चुन कर आए हैं, तो पार्टी को भी जवाब देना बनता है। विधायक शिल्पी नेहा तिर्की ने कहा कि क्रॉस वोटिंग हुई है। यह सबको पता है। क्रॉस वोटिंग पर सवाल पूछा जा रहा है। उन्होंने पार्टी निर्देश के तहत विपक्ष के संयुक्त प्रत्याशी को वोट किया।

वन टू वन बैठक में 14 विधायकों ने लिया भाग
विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव, मंत्री बन्ना गुप्ता, कुमार जयमंगल, दीपिका पांडेय सिंह, पूर्णिमा नीरज सिंह, सोनाराम सिंकू, रामचंद्र सिंह, शिल्पी नेहा तिर्की, इरफान अंसारी, प्रदीप यादव, राजेश कच्छप, नमन विक्सल कोनगाड़ी और ममता देवी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: