झारखंड

झारखंड : स्कूली बच्चों को पाठ्य पुस्तकें जून में मिलेंगी

राज्य के सरकारी स्कूलों में गर्मी की छुट्टी के बाद जून में ही पाठ्य पुस्तकों (किताब) का वितरण किया जाएगा। इसके लिए सबसे पहले बच्चों से पुरानी किताबें ली जाएंगी। उसके बाद नई किताबों का वितरण शुरू किया जाएगा।

राज्य के सरकारी स्कूलों में गर्मी की छुट्टी के बाद जून में ही पाठ्य पुस्तकों (किताब) का वितरण किया जाएगा। इसके लिए सबसे पहले बच्चों से पुरानी किताबें ली जाएंगी। उसके बाद नई किताबों का वितरण शुरू किया जाएगा।

राज्य सरकार ने नामांकित कुल बच्चों में से 70 फ़ीसदी बच्चों के लिए ही किताबें छपवाई हैं। बाकी 30 फ़ीसदी बच्चों को पुरानी किताबों से ही पढ़ना पड़ेगा। पहली से दसवीं तक की करीब 60 फीसदी किताबें छप कर आ चुकी हैं। ऐसे में सभी किताबें आने के बाद और पुरानी किताबें मिलने के बाद उसे मिलाकर छात्र-छात्राओं के बीच वितरित किया जाएगा। लॉकडाउन की वजह से अभी स्कूल बंद हैं। तीन मई को लॉकडाउन खत्म भी होता है तो स्कूल खुलेंगे नहीं और वहां गर्मी की छुट्टी हो जाएगी। कोरोना संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में रहने पर 20 मई के करीब स्कूल खुलेंगे, लेकिन सबसे पहले स्कूलों में नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी। इसी दौरान छात्र छात्राओं को पिछली क्लास की किताबें स्कूलों में जमा करनी होंगी।

अव्वल आने वालों को नई किताबें: राज्य सरकार ने किताबों के वितरण के लिए पूर्व में ही निर्धारण किया है। इसमें क्लास में अव्वल आने वालों और अच्छी हालत में पुरानी किताबें देने वालों को सबसे पहले नई किताबें दी जाएगी। इसके बाद नियमित रूप से आने वाले छात्र-छात्राओं को उनकी पिछले साल की उपस्थिति के आधार पर भी नए किताबों का वितरण किया जाएगा।

source by : https://www.livehindustan.com/

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: