Headlinesट्रेंडिंगबिजनेस

आम बजट 2021 : बजट के बीच जानिए क्यों वायरल होने लगा कुमार विश्वास का ‘राम-राज्य’ से जुड़ा ये वीडियो

आम बजट 2021 : बजट के बीच जानिए क्यों वायरल होने लगा कुमार विश्वास का 'राम-राज्य' से जुड़ा ये वीडियो

आम बजट 2021

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने आज संसद में आम बजट 2021 को पेश कर दिया है. इस बजट में उन्होंने कई ऐसी चीजों की घोषणा की है जिसको लेकर चर्चाएं तेज हो गई है. बंगाल, असम जैसे राज्यों में हाईवे निर्माण के लिए घोषणा की गई जबकि कोरोना वैक्सीन के लिए 25 हजार करोड़ रुपये आवंटित किए गए. इन तमाम तरह की घोषणाओं के बाद से सोशल मीडिया पर सरकार के बजट का समर्थन भी होने लगा तो दूसरी ओर विपक्षी दल समेत कई लोग सरकार के बजट की आलोचना कर रहे हैं. इन सबके बीच सोशल मीडिया पर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) से जुड़ा एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. वैसे तो ये वीडियो साल 2019 का है और उस वक्त जब कुमार विश्वास ने इसे पोस्ट किया था, तब भी वीडियो काफी लोकप्रिय हुआ था मगर आज बजट पेश किए जाने के बाद से ही ये वीडियो फिर से यूजर्स की नजरों में आ गया है. कई लोगों ने इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर किया है.

वीडियो में क्या है?

कुमार विश्वास के इस वीडियो का टाइटल है राम राज्य का बजट. इस वीडियो में कुमार अपने कुछ साथियों के साथ मौसम का आनंद लेते नजर आ रहे हैं और राम राज्य की चर्चा कर रहे हैं. वीडियो में कुमार विश्वास कहते हैं कि इन दिनों, कर, शासन व्यवस्था को लेकर उनकी सोच राम राज्य के चारों तरफ घूमती है. वीडियो में कुमार विश्वास अपने साथियों को राम राज्य में कर व्यवस्था के निर्धारण से जुड़ी कुछ जानकारियां देते नजर आ रहे हैं. कुमार विश्वास कहते हैं कि जब भगवान राम ने भरत से कहा था कि हमें कर ऐसे लेना चाहिए जैसे सूर्य, इस दुनिया से कर लेता है. सूर्य कर के रूप में पानी सोखता है. वो समुद्र से पानी सोखता है, नदी से, नालों से, ग्लास आदि से जल को सोख लेता है और फिर उसी पानी को बारिश के रूप में अन्य जगहों पर बरसा देता है जहां पानी की जरूरत है. कुमार बताते हैं कि राम राज्य में कर वसूलने की प्रथा को तुलसीदास जी ने भी अपने दोहे में बताया है. वो कहते हैं- ‘बरसत हरसत सब लखें, करसत लखे न कोय तुलसी प्रजा सुभाग से, भूप भानु सो होय.’


कुमार विश्वास ने तुलसीदास जी के ही एक और दोहे का जिक्र करते हुए बताया कि राम राज्य में टैक्स उनसे अधिक वसूला जाता था जो टैक्स देने लायक होते थे. जो गरीब थे उनसे टैक्स नहीं वसूला जाता था. वो तुलसी का एक और दोहा कहते हैं-  “मणि-माणिक महंगे किए, सहजे तृण,जल,नाज, तुलसी सोइ जानिए राम गरीब नवाज.”

यह भी पढ़ें: Budget 2020-21 : PM मोदी ने दी वित्त मंत्री एंड टीम को बधाई, कहा- बजट में विकास का विश्वास है

 

कुमार विश्वास के इस वीडियो को शेयर कर लोग आज के वक्त में भी ऐसे ही केंद्रीय बजट की मांग कर रहे हैं. लोग कुमार विश्वास की भी तारीफ कर रहे हैं जिन्होंने बेहद खूबसूरती से अपनी बात को वीडियो में रखा है.

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button