खेल

Pakistan Cricket Team : आमिर सोहैल का अटपटा आरोप- 1992 के बाद वसीम अकरम ने पाकिस्तान को नहीं जीतने दिया कोई वर्ल्ड कप

Pakistan Cricket Team : आमिर सोहैल का अटपटा आरोप- 1992 के बाद वसीम अकरम ने पाकिस्तान को नहीं जीतने दिया कोई वर्ल्ड कप

Pakistan Cricket Team : पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और तेज गेंदबाज वसीम अकरम को अपनी घातक गेंदबाजी के लिए जाना जाता है। अकरम को रिवर्स स्विंग के फाउंडर्स में से एक माना जाता है। पाकिस्तान को 1992 वर्ल्ड कप जिताने में वसीम अकरम का बड़ा हाथ रहा था। पाकिस्तान के पूर्व सलामी बल्लेबाज आमिर सोहैल ने अकरम पर कुछ ऐसे आरोप लगाए हैं, जो चौंकाने वाले हैं। सोहैल की माने तो पाकिस्तान क्रिकेट में वसीम अकरम का जो सबसे बड़ा योगदान है, वो यह है कि उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि पाकिस्तान 1992 के बाद से कोई वर्ल्ड कप खिताब ना जीत पाए।

आईसीसी क्रिकेट हाल ऑफ फेम चुने जा चुके अकरम के लिए सोहैल ने जो बातें कही हैं, वो काफी हैरान करने वाली हैं। सोहैल ने कहा कि आप 1992 वर्ल्ड कप अगर अलग कर दें तो आपको समझ आएगा कि अकरम का बड़ा योगदान यह रहा है कि उन्होंने देश को और कोई वर्ल्ड कप नहीं जीतने दिया। उन्होंने कहा, ‘यह बहुत सिंपल है, 1992 वर्ल्ड कप को एक किनारे रखिए और 1996 वर्ल्ड कप की बात करिए। 1995 में कप्तान रमीज राजा थे, उससे पहले कप्तान सलीम मलिक थे, वो काफी सफल कप्तान थे, वो अगर एक साल और कप्तानी कर लेते तो वसीम अकरम को कप्तानी करने की जरूरत नहीं पड़ती।’

क्रिकेट पाकिस्तान डॉट कॉम के मुताबिक आमिर सोहैल ने एक पाकिस्तान के एक लोकल टीवी चैनल में यह सबकुछ कहा। उन्होंने आगे कहा, ‘अगर आप देखेंगे कि 2003 तक क्या कुछ हुआ, हर वर्ल्ड कप से पहले यह अभियान चलता था कि जो भी कप्तान है उसको हटाकर वसीम अकरम को कप्तान बना दिया जाए।’

अकरम ने पाक को नहीं जीतने दिया 1992 के बाद कोई वर्ल्ड कप खिताब!

सोहैल ने कहा कि अकरम अगर अपना काम अच्छे से करते तो पाकिस्तान 1996, 1999 और 2003 वर्ल्ड कप खिताब जीत जाता। सोहैल ने पाकिस्तान के लिए 47 टेस्ट मैच, 156 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं। वहीं अकरम ने पाकिस्तान के लिए 104 टेस्ट मैच और 356 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं।

पाकिस्तान 1999 में भी खिताब के करीब तक पहुंचा था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्हें खिताबी मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था। 2003 वर्ल्ड कप में भी अकरम ने ही पाकिस्तान टीम की कमान संभाली थी और टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे। सोहैल ने कहा, ‘देखिए, पाकिस्तान क्रिकेट में वसीम अकरम का सबसे बड़ा योगदान रहा है कि उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि टीम 1992 के बाद कोई वर्ल्ड कप ना जीत सके। इमरान खान इसके लिए उनके शुक्रगुजार होंगे और उन्हें राष्ट्रपति सम्मान दे रहे हैं। अगर अकरम अपना काम अच्छे से करते तो हम 1999 और 2003 वर्ल्ड कप खिताब जीतते। यह सब ड्राम एक मकसद से हुआ है और इसकी जांच होनी चाहिए। जो भी इसका दोषी है उसको सबके सामने लाना चाहिए।’

source by : https://www.livehindustan.com/

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: