Headlinesट्रेंडिंग

कई सौगातें, पिछली सरकारों पर वार… पढ़ें PM मोदी के सिद्धार्थनगर और वाराणसी दौरे की बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सोमवार को यूपी दौरे पर थे. इस दौरान पीएम पहले सिद्धार्थनगर और फिर वाराणसी पहुंचे. वाराणसी में पीएम मोदी ने PM अयुष्मान भारत हेल्थ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सोमवार को यूपी दौरे पर थे. इस दौरान पीएम पहले सिद्धार्थनगर और फिर वाराणसी पहुंचे. वाराणसी में पीएम मोदी ने PM अयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन को लॉन्च किया. यह सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है. इससे पहले सिद्धार्थनगर में मोदी ने नौ चिकित्सा महाविद्यालयों का उद्घाटन किया. यहां अपने संबोधन में मोदी ने पिछली सरकारों पर जमकर हमला बोला. मोदी ने यह भी पूछा कि क्या कभी किसी को याद पढ़ता है कि उत्तर प्रदेश के इतिहास में कभी एक साथ इतने मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण हुआ हो?

PM अयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन को लॉन्च कर मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों ने स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान नहीं दिया. विकास से यूपी को दूर रखा. मोदी बोले कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए किया गया निवेश उत्तम निवेश है.

मोदी ने आगे कहा कि अतीत में जिस तरह देश और यूपी में काम हुआ, अगर वैसे ही काम होता तो आज काशी की स्थिति क्या होती. काशी को पिछली सरकारों ने अपने हाल पर छोड़ रखा था, जहां-तहां लटकते पुराने बिजली के तार, प्रदूषण, जितना काम वाराणसी में पिछले 7 सालों में हुआ है उतना पिछले कई दशकों में नहीं हुआ.

आजादी के बाद के लंबे कालखंड में आरोग्य पर, स्वास्थ्य सुविधाओं पर उतना ध्यान नहीं दिया गया, जितनी देश को जरूरत थी. देश में जिनकी लंबे समय तक सरकारें रहीं, उन्होंने देश के हेल्थकेयर सिस्टम के संपूर्ण विकास के बजाय, उसे सुविधाओं से वंचित रखा.

क्या है PM अयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन

इस मिशन पर अगले 5 सालों में 64000 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इसके तहत जिला स्तर पर ICU, वेंटिलेटर आदि की सुविधा सहित 37 हजार बेड्स विकसित किए जाएंगे. इससे इलाज जिले में ही मिल सकेगा और इलाज के खर्च में बचत होगी. इसके अलावा 4 हजार लैब्स बनाई जाएंगी. मिशन में संक्रामक रोगों पर विशेष फोकस है. पांच नए NCDC बनाए जाएंगे. साथ ही हेल्थ यूनिट्स को विकसित किया जाएगा. यहां पीएम मोदी ने अन्य विकास प्रोजेक्ट्स का भी लोकार्पण किया. इनकी लागत 5200 करोड़ रुपये के करीब है.

किया था 9 मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन

बता दें कि ये कॉलेज सिद्धार्थनगर, एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, फतेहपुर, देवरिया, गाजीपुर, मिर्जापुर और जौनपुर जिलों में स्थित हैं. इन 9 मेडिकल कॉलेजों की लागत 2,329 करोड़ रुपये है.

मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने पूर्वांचल की तस्वीर खराब कर दी थी, बीमारियों की वजह से बीमार कर दिया गया था. वही पूर्वांचल, वही यूपी पूर्वी भारत को सेहत का नया उजाला देने वाला है. आगे कहा गया कि पिछली सरकारों की प्राथमिकता अपने लिए कमाना होता था. वहीं उनकी (मोदी) सरकार की प्राथमिकता गरीब का पैसा बचाना, गरीब के परिवार को मूलभूत सविधाएं देना है.

मोदी ने किया सीएम योगी का जिक्र

यूपी के भाई-बहन भूल नहीं सकते कि कैसे योगी ने संसद में यूपी की बदहाल व्यवस्था की बात सुनाई थी, तब वो बस सांसद थे. छोटी आयु के सांसद बने थे और जब उन्हें मौका मिला तो उन्होंने दिमागी बुखार को बढ़ने से रोक दिया. यूपी में कभी स्वास्थ्य को तव्वजो नही दी गई। गांवों देहातों से भागकर इलाज के लिए दूसरे जिलों जाना पड़ता था.

मोदी ने कहा कि सीएम योगी की सरकार से पहले जो सरकार थी उसने अपने कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में सिर्फ 6 मेडिकल कॉलेज बनवाए थे. सीएम योगी के कार्यकाल में 16 मेडिकल कॉलेज शुरू हो चुके हैं और 30 नए मेडिकल कॉलेजों पर तेजी से काम चल रहा है.

मोदी ने आगे कहा कि पिछली सरकारों में सालों-साल तक बिल्डिंग नहीं बनती थी, बिल्डिंग होती थी तो मशीनें नहीं होती थी. दोनों होते थे तो डॉक्टर-स्टाफ नहीं होते थे. वहीं गरीबों को लूटने वाली भ्रष्टाचार की ‘साइकिल’ 24 घंटे घूमती रहती थी. दवाई में भ्रष्टाचार, एंबुलेंस भ्रष्टाचार, नियुक्ति में भ्रष्टाचार, पोस्टिंग में भ्रष्टाचार. इससे कुछ परिवारवादियों का तो भला हुआ. लेकिन इसमें पूर्वांचल का फायदा नहीं हुआ.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: