Headlinesझारखंड

Ranadih sand ghat : राणाडीह बालू घाट पर बड़े पैमाने पर चल रहा है गड़बड़ी 80सीएफटी के बदले 110 सीएफटी तक बेचा जा रहा है बालू

Ranadih sand ghat : राणाडीह बालू घाट पर बड़े पैमाने पर चल रहा है गड़बड़ी 80सीएफटी के बदले 110 सीएफटी तक बेचा जा रहा है बालू

Ranadih sand ghat (गढ़वा) : जिले के कांडी थाना क्षेत्र के रानाडीह स्थित कोयल नदी बालू घाट से इन दिनों बालू का उठाव बड़े पैमाने पर जारी है। यूं तो कहने के लिए यह सरकारी बालू घाट है, जहां से चालान कटा कर ही गाड़ी वाले बालू का उठाव व ढ़ुलाई करते हैं, किंतु बालू उठाव व चालान में भारी अनियमितता बरती जा रही है।

 Ranadih sand ghat

Ranadih sand ghat

ट्रैक्टर चालकों द्वारा जो चालान कटाया जा रहा है, उसमें स्पष्ट निर्देश है कि 80 सीएफटी बालू की ही ढ़ुलाई करनी है, जबकि उस घाट से निकलने वाले सभी ट्रैक्टरों में ओवरलोड बालू लदा रहता है।

ये भी पढ़ें- प्रधानमंत्री आवास योजना पर कोरोना का साया, घर के लिए करना पड़ सकता है इंतजार

बिना बालू घाट अथॉरिटी के मिलीभगत के गाड़ियों में ओवरलोड बालू का ढुलाई संभव नहीं है। नाम नहीं छापने की शर्त पर कई गाड़ी चालकों ने बताया कि ₹430 की जगह पर 80 सीएफटी बालू का उनसभी से ₹450 वसूले जाते हैं।इस तरह सैकड़ों गाड़ियों को हजारों रुपए का चूना हर रोज लगाया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पूर्व में 100 सीएफटी बालू का ₹ 430 लिया जा रहा था।

वर्तमान समय की बात करें तो 80 सीएफटी बालू का ₹450 लिया जा रहा है, जबकि 80 सीएफटी के बदले 110 सीएफटी बालू लोड किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें- कोरोना का देश में कहर, पहली बार एक दिन में 300 की मौत; कुल 6500 से अधिक की मौत

इस सम्बंध में बालू घाट के जिम्मेवार व्यक्ति घटहुआँ कला निवासी- संजय साह से पूछे जाने पर जवाब संतोषजनक नहीं मिला। बताया गया कि महेंद्र बाबू के पुत्र 80 सीएफटी का 450 रुपए ले रहे हैं। 80 सीएफटी का चालान काटने का आदेश मिला है।

मतलब की सवाल व सवाल के मिल रहे जबाब में काफी अंतर मिल रहा है।

संवाददाता- विवेक चौबे

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button