Headlinesबिहार

Ranchi-Thawe Special Train : रेल मंत्री रहते जो काम लालू नहीं कर सके वह अश्विनी वैष्णव ने कर डाला, थावे भवानी के भक्त खुश

Ranchi-Thawe Special Train : रेल मंत्री रहते जो काम लालू नहीं कर सके वह अश्विनी वैष्णव ने कर डाला, थावे भवानी के भक्त खुश

 धनबाद। पहली बार झारखंड की राजधानी रांची से बिहार के गोपालगंज स्थित थावे तक स्पेशल ट्रेन चलने जा रही है। भारतीय रेलवे ने रांची-थावे छठ स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है।

यह ट्रेन रांची से सिवान तक माैर्य एक्सप्रेस के रूप पर चलेगी। सिवान से थावे के लिए मुड़ जाएगी। छठ से पहले मौर्य एक्सप्रेस में नो रूम है। इसके मद्देनजर रेलवे रांची से थावे के बीच छठ स्पेशल चलाएगी। छह नवंबर को रांची और आठ को थावे से स्पेशल ट्रेन चलेगी। वापसी में थावे से रांची के लिए आठ नवंबर को चलेगी। इस ट्रेन के चलने से झारखंड की राजधानी रांची के साथ ही बोकारो और धनबाद में रहने वाले बिहार के हाजीपुर, छपरा, सिवान और गोपालगंज जाने के लिए सीधी ट्रेन मिल जाएगी। ट्रेन की घोषणा के साथ ही टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई है। सेकेंड सीटिंग स्लीपर और थर्ड एसी में सीटें उपलब्ध हैं।

जब लालू प्रसाद यादव बने थे रेल मंत्री तो थावे के लिए ट्रेन की उठी थी मांग

थावे कोई बड़ा स्टेशन नहीं है। यह स्टेशन मुख्य रेल लाइन पर भी नहीं है। ऐसे में यहां के लिए स्पेशल ट्रेन का परिचालन अपने आप में बहुत बड़ी बात है। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव 23 मई, 2004 से 25 मई, 2009 तक रेल मंत्री रहे। डा. मनमोहन सिंह वाली केंद्र की यूपीए सरकार में लाल का दबदबा था। उनके रेल मंत्री बनने के बाद छपरा, सिवान और गोपालगंज के झारखंड में रहने वाले लोगों ने थावे के लिए ट्रेन की पहली बार मांग उठाई थी। कुछ लोगों ने उनसे मुलाकात भी की। लोगों को काफी उम्मीद थी। लालू मूल रूप से बिहार के गोपालगंज के फुलवरिया गांव के रहने वाले हैं। फुलवरिया से थावे की दूरी करीब 15 किलोमीटर है। लालू प्रसाद चाहते तो रांची या धनबाद से थावे के लिए ट्रेन चला सकते थे। लेकिन उन्होंने ध्यान नहीं दिया। अब रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के कार्यकाल में थावे के लिए स्पेशल ट्रेन चली है। इससे छपरा, सिवान और गोपालगंज के लोग काफी खुश हैं। थावे से कुछ दूरी पर यूपी की सीमा लगती है। यह ट्रेन यूपी के पूर्वाचंल के जिलों के लिए भी साैगात के सामान है।

थावे भवानी के लिए प्रसिद्ध थावे

बिहार के गोपालगंज स्थित थावे में देवी दुर्गा का एक प्राचीन मंदिर अवस्थित है एवं यह मंदिर थावे वाली माता भवानी के नाम से विख्यात है। इस मंदिर के बारे में यह मान्यता है कि थावे वाली माता अपने भक्तों की हर मुराद पूरी करती हैं। यहां चैत्र माह (मार्च-अप्रैल) में सालाना एक बड़ा मेला आयोजित किया जाता है। वैसे प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग थावे भवानी की पूजा और दशन के लिए बिहार के साथ ही सीमावर्ती यूपी और नेपाल के लोग आते हैं।

थावे स्टेशन ट्रेन का टाइम टेबल

  • 08631 रांची-थावे स्पेशल रांची से रात 8:10 पर खुलेगी। रात 10:30 पर बोकारो, देर रात एक बजे धनबाद होकर दूसरे दिन शाम 6:10 पर थावे पहुंचेगी।
  • 08632 थावे-रांची स्पेशल थावे से दिन 10:10 पर खुलेगी। देर रात 2:35 पर धनबाद आएगी। अलसुबह 4:40 पर बोकारो और सुबह 7:10 पर रांची पहुंचेगी।

इन स्टेशनों पर होगा ठहराव: मूरी, चितरंजन, मधुपुर, जसीडीह, झाझा, जमुई, मननपुर, किउल, बरौनी, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, छपरा और सिवान।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: