Headlinesट्रेंडिंग

रिक्शाचालक के बेटे ने यूपीएससी आईईएस परीक्षा में हासिल किया दूसरा स्थान, कश्मीर के युवाओं को दिया ये संदेश

रिक्शाचालक के बेटे ने यूपीएससी आईईएस परीक्षा में हासिल किया दूसरा स्थान, कश्मीर के युवाओं को दिया ये संदेश

कश्मीर के तनवीर अहमद खान ने यूपीएससी आईईएस परीक्षा पाया दूसरा स्थान आर्थिक तंगी के बावजूद परिवार ने किया पूरा सहयोग पिता गर्मियों में किसानी तो सर्दियों में चलाते थे रिक्शा

जम्मू-कश्मीर : कश्मीर के कुलगाम जिले के निगीनपोरा गांव के रहने वाले तनवीर अहमद खान ने पूरे कश्मीर का नाम रोशन कर दिया है । उन्होंने यूपीएससी द्वारा आयोजित होने वाली प्रतिष्ठित भारतीय आर्थिक सेवा (आईईएस) परीक्षा में पूरे देश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है । हालांकि तनवीर के लिए ये सब आसान नहीं था । बेहद गरीबी और सीमित संसाधनों के बावजूद उन्होंने कभी हार नहीं मानी । ऐसे असल कहानी लोगों के लिए एक प्रेरणा है जो सुविधाओं का रोना रोते हैं ।

परिवार ने दिया पूरा साथ

तनवीर एक परिवार से ताल्लुक रखते हैं लेकिन उनकी आर्थिक तंगी उन्हें कभी बड़े सपने देखने से नहीं रोक पाई । उनके पिता ने गर्मियों में एक किसान के रूप में खेतों में काम किया और सर्दियों के महीनों में पंजाब में रिक्शाचालक के रूप में काम किया ताकि खान को पढ़ाई करने में कोई समस्या न आए । उनके परिवार के इसी सपोर्ट ने उन्हे तमाम मुश्किलों के बाद भी आगे बढ़ने का हौंसला दिया ।

इंटरनेट के लिए जगह-जगह भटकना पड़ता था

खान ने कहा कि कश्मीर के दूरदराज गांव में रहना जहां बुनियादी सुविधाओं की कमी है । खासकर इंटरनेट के मामले में छात्रों को तमाम मुश्किलों का सामना करना पडता है । उन्होंने कहा कि यहां छात्रों को फुल स्पीड इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए अन्य जगहों पर भटकना पड़ता है।

तनवीर ने गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज बॉयज अनंतनाग से कंपाउंड आर्ट्स स्ट्रीम में स्नातक की पढ़ाई पूरी की । खान ने 2018 में कश्मीर विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में मास्टर भी किया । बाद में एमफिल करने के लिए कोलकाता गया और साथ-साथ आईईएस की तैयारी भी करने लगे।

माता-पिता के अलावा खान ने अपने मामा को भी अपनी सफलता का श्रेय दिया जिन्होंने खान को अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए खूब मेहनत की। उन्होंने कहा कि मेरे माता-पिता और विशेष रूप से मेरे मामा ने मुझे आर्थिक और भावनात्मक रूप से बहुत मदद की।

तनवीर ने जम्मू कश्मीर के युवाओं को अपने संदेश में कहा कि उन्हें लीक से हटकर सोचना चाहिए और वैकल्पिक करियर विकल्पों की तलाश करनी चाहिए । साथ ही उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के युवा प्रतिभाशाली है जो हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकते हैं । बस उन्हें पारंपरिक कैरियर की तुलना में वैकल्पिक की तलाश करनी चाहिए ।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: