Headlinesट्रेंडिंग

मध्य प्रदेश : नहर में गिरी 54 यात्रियों से भरी बेकाबू बस, 30 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

मध्य प्रदेश : नहर में गिरी 54 यात्रियों से भरी बेकाबू बस, 30 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

मध्य प्रदेश के सीधी क्षेत्र में मंगलवार सुबह एक बस अनियंत्रित होकर नहर में गिर गई। अब तक इस हादसे में 30 लोगों की मौत की खबर है। बस में करीब 54 लोग सवार थे। यह बस सीधी से सतना जा रही थी। घटना की सूचना के बाद SDRF ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। अब तक 7 लोगों को बचाया जा चुका है और अब भी बड़ी संख्या में लोग लापता हैं। हादसे में 30 लोगों के मारे जाने की पुष्टि मध्य प्रदेश के मंत्री तुलसी सिलावट ने की है। उन्होंने कहा, ‘यह दुखद हादसा है। सीएम इस घटना की पूरी डिटेल ले रहे हैं। मेरे समेत दो मंत्री घटनास्थल पर जा रहे हैं। मैंने संबंधित अधिकारियों से बात की है। अब तक 30 शवों को निकाला जा चुका है।’

इस हादसे पर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘नहर काफी गहरी है। हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया और राहत और बचाव दलों को रवाना किया। कलेक्टर, SP और SDRF की टीम वहां है। बस निकालने के प्रयास हो रहे हैं। मैं राहत और बचाव कार्य करने वाली टीम के संपर्क में हूं। 7 साथी बचाए जा चुके हैं।’ सूबे के सीएम ने कहा कि आज हम बड़े उत्साह से 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम सम्पन्न करने वाले थे लेकिन सुबह 8 बजे ही मुझे ये सूचना मिली कि सीधी ज़िले के बाणसागर नहर में यात्रियों से भरी एक बस नहर में गिर गई है। इसलिए आज कार्यक्रम करना उचित नहीं होगा।

दरअसल बस जिस नहर में गिरी है वह सीधे बाणसागर डैम से जुड़ी हुई है, इसलिए नहर में पानी भी तेज रफ़्तार के साथ बह रहा रहा है और पानी की मात्रा भी अधिक है। जिससे रेस्क्यू में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार, घटना प्रदेश के रामपुर के नेकिन थाना क्षेत्र के पटना पुलिया की है, जहां यात्रियों से भरी एक बस नहर में गिरी। यह बस सीधी से सतना जा रही थी।

SDRF की टीम और गोताखोरों की मदद से सात लोगों को बचा लिया गया है। टीम के मुताबिक़ बचाए गए लोगों की हालत काफी गम्भीर है और उन्हें रीवा के अस्पताल में भर्ती कराने के भेज दिया गया है। बस के नहर में गिरने के बाद लोगों को बचाने और बस को नहर से बाहर निकालने के लिए करें की मदद ली जा रही है। साथ ही यह नहर बाणसागर डैम से जुड़ी हुई है, जिसके लिए नहर का पानी रोकने के निर्देश दिए गए हैं।

source

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button