Headlinesट्रेंडिंगराष्ट्रीय ख़बरें

उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में छाया कोहरा, इन इलाकों में बढ़गी ठंड

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरी तमिलनाडु तट से दूर बंगाल की दक्षिण-पश्चिम खाड़ी पर बना दबाव पश्चिम, उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है। यह उत्तरी तमिलनाडु और उससे सटे दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों को पार करते हुए पुडुचेरी और चेन्नई के पास पहुंच गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरी तमिलनाडु तट से दूर बंगाल की दक्षिण-पश्चिम खाड़ी पर बना दबाव पश्चिम, उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है। यह उत्तरी तमिलनाडु और उससे सटे दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों को पार करते हुए पुडुचेरी और चेन्नई के पास पहुंच गया है।

19 नवंबर यानी आज 05:30 बजे के दौरान डिप्रेशन तटीय तमिलनाडु और इससे सटे इलाकों के पास केंद्रित था। यह चेन्नई से लगभग 60 किमी दक्षिण, दक्षिण पश्चिम और पुडुचेरी से 60 किमी उत्तर-पूर्व के पास है। इसके पश्चिम, उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ना जारी रहने और अगले 12 घंटों के दौरान धीरे-धीरे कमजोर होकर एक निम्न दबाव के क्षेत्र में बदलने का अनुमान है।

एक अन्य कम दबाव का क्षेत्र पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर बना हुआ है। इसके अगले 48 घंटों के दौरान भारत के पश्चिमी तट से पश्चिम, दक्षिण-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है।

मौसम विभाग ने कहा कि उपरोक्त मौसम संबंधी गतिविधियों के चलते आज 19 नवंबर को दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, रायलसीमा और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में भारी से बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है।

वहीं आज उत्तरी तमिलनाडु, पुडुचेरी, केरल और माहे, तेलंगाना और तटीय और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में भी अलग-अलग स्थानों पर मूसलाधार बारिश के आसार हैं।

कहां रहा न्यूनतम तापमान सामान्य से बहुत कम
कल हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली के कुछ स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से -3.1 डिग्री सेल्सियस से -5.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया जोकि काफी कम है।

कल पश्चिम राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर,पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों में, बिहार में कुछ स्थानों पर, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से -1.6 डिग्री सेल्सियस से -3.0 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा। देश के बाकी हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य के करीब दर्ज किया गया।

कल, देश के मैदानी इलाकों में चुरू (पूर्वी राजस्थान) में न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

कहां रहा अधिकतम तापमान सामान्य से बहुत कम
कल पूर्वी राजस्थान के अधिकांश स्थानों पर और पश्चिम मध्य प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से -5.1 डिग्री सेल्सियस या उससे कम दर्ज किया गया।

वहीं कल रायलसीमा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के अधिकांश स्थानों पर और पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ के कई स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से -3.1 डिग्री सेल्सियस से -5.0 डिग्री सेल्सियस काफी नीचे दर्ज किया गया।

कल हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, पूर्वी उत्तर प्रदेश और तटीय आंध्र प्रदेश और यनम में कई स्थानों पर, पश्चिम उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और उत्तरी आंतरिक क्षेत्र में कुछ स्थानों पर, कर्नाटक और गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, ओडिशा, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, केरल और माहे में अलग-अलग स्थानों अधिकतम तापमान सामान्य से -1.6 डिग्री सेल्सियस से -3.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। देश के बाकी हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य के करीब रहा।

कल, बुलसर (गुजरात) में अधिकतम तापमान 34.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

कहां देखा कोहरा गया
आज सुबह 5:30 के दौरान पूर्वी राजस्थान, दिल्ली, पश्चिम मध्य प्रदेश, ओडिशा और असम, मेघालय के अलग-अलग हिस्सों में हल्के से मध्यम कोहरा देखा गया।

मौसम विभाग ने बताया की अगले कुछ दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में हल्के से मध्यम कोहरा छाया रहेगा।

कहां हुई विजिबिलिटी 500 मीटर या उससे कम
आज 05:30 बजे के दौरान उदयपुर में दृश्यता 200 मीटर, सफदरजंग (दिल्ली), ग्वालियर, झारसुगुडा और गुवाहाटी हर जगह दृश्यता या विजिबिलिटी 500 मीटर दर्ज की गई।

आज कहां गिरेगी बिजली, कहां चलेगी तेज हवाएं और कहां पड़ेगी गरज के साथ बौछारें
आज पूर्वी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश, मराठवाड़ा, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, केरल और माहे, रायलसीमा, में बिजली गिरने तथा गरज के साथ बौछारें पड़ने के आसार हैं।
आज कर्नाटक और तटीय आंध्र प्रदेश और यनम के अलग-अलग हिस्सों में बिजली गिरने तथा गरज के साथ बौछारें पड़ने के आशंका है।

मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी
आज तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों, मन्नार की खाड़ी, कोमोरिन क्षेत्र और मालदीव के इलाकों के साथ-साथ बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम-मध्य में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने के आसार हैं।

वहीं पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार में तब्दील होने की आशंका है। उपरोक्त तेज हवाओं की गतिविधि के चलते मछुआरों को चेतावनी दी है कि इन इलाकों में मछली पकड़ने तथा किसी तरह के व्यापार से संबंधित काम के लिए न जाएं।

कल कहां हुई बारिश और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें
कल, 18 नवंबर को 8:30 से 5:30 के दौरान दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में कई स्थानों पर, पूर्वी राजस्थान, कोंकण और गोवा और रायलसीमा में कुछ स्थानों पर और गुजरात, पश्चिम मध्य प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, तेलंगाना, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम और केरल और माहे में अलग-अलग स्थानों पर बारिश हुई या गरज के साथ बौछारें पड़ी।

कल कहां कितनी वर्षा दर्ज की गई
कल, 18 नवंबर को 8:30 से 5:30 के दौरान पुडुचेरी में 15 सेमी, तिरुपत्तूर में 7 सेमी, वेल्लोर में 6 सेमी, चेन्नई और धर्मपुरी हर जगह 5 सेमी, तिरुत्तानी में 4 सेमी, नुम्गुम्बक्कम में 3 सेमी, तिरुपति में 9 सेमी और आरोग्यवरम में 2 सेमी, उदयपुर डबोक में 3 सेमी और चित्तौड़गढ़ में 2 सेमी, बैंगलोर में 2 सेमी, नेल्लोर में 2 सेमी बारिश दर्ज की गई।

कल कहां हुई भारी बारिश
कल तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के अलग-अलग हिस्सों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई वहीं रायलसीमा के अलग-अलग हिस्सों में भी भारी बारिश दर्ज की गई।

कल कहां चली आंधी और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें
कल 18 नवंबर को 8:30 के दौरान पूर्वी राजस्थान, कोंकण और गोवा, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, तटीय कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, केरल और माहे और रायलसीमा में अलग-अलग स्थानों पर तेज हवा चली तथा गरज के साथ बौछारें पड़ी, इन जगहों पर, आज 5:30 बजे के दौरान मौसम की इसी तरह की गतिविधि के आसार हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: