खेल

Everton Weekes: वेस्टइंडीज के लीजेंडरी क्रिकेटर सर एवर्टन वीक्स का 95 साल की उम्र में निधन, क्रिकेट जगत में शोक

Everton Weekes: वेस्टइंडीज के लीजेंडरी क्रिकेटर सर एवर्टन वीक्स का 95 साल की उम्र में निधन, क्रिकेट जगत में शोक

Everton Weekes : वेस्टइंडीज के लीजेंडरी बल्लेबाजी सर एवर्टन वीक्स का बुधवार को 95 साल की उम्र में निधन हो गया। वीक्स को 2019 में दिल का दौरा पड़ा था और वह उसके बाद से ही बीमार चल रहे थे।क्लाइड वालकॉट और फ्रैंक वॉरेल के साथ एवर्टन वीक्स ने बारबाडोस में जन्मी तिकड़ी थी, जिन्हें ‘द थ्री डब्ल्यूएस’ (the three Ws) के नाम से जाना जाता था। इस तिकड़ी ने युद्ध के बाद वर्ल्ड क्रिकेट में अपना रुतबा बनाया। इन तीनों में से सबसे अच्छे बल्लेबाज माने जाने वाले वीक्स ने वेस्टइंडीज के लिए 48 टेस्ट खेले। एवर्टन वीक्स का जन्म 26 फरवरी 1925 को हुआ था।

वीक्स ने 1948 से 1958 के बीच अपने टेस्ट करियर में 58.62 की औसत से 4455 रन बनाए। उन्होंने इस दौरान 15 शतक भी जड़े। वीक्स के नाम पांच लगातार पारियों में शतक लगाने का रिकॉर्ड है। उनकी औसत 58.61 की रही, जो वेस्टइंडीज खिलाड़ियों में सिर्फ जॉर्ज हेडली से कम है। उनके नाम दुनिया में सबसे तेजी से 1000 टेस्ट रन की उपलब्धि हासिल करने का संयुक्त कीर्तिमान भी है। उनके अलावा इंग्लैंड के हरबर्ट सटक्लिफ ऐसे दूसरे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 12 पारियों में यह कारनामा किया है।

ये भी पढ़ें – भारत के बाद अमेरिका से भी लग सकता है चीन को झटका, उठी टिकटॉक बैन करने की मांग

सर एवर्टन वीक्स के पास डिलीवरी होते ही गेंद को परखने की क्षमता थी। वीक्स ने 152 फर्स्ट क्लास मैचों में 55.34 की औसत से 12,010 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 26 शतक भी जड़े। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका अधिकतम स्कोर नाबाद 304 रन रहा है।

ये भी पढ़ें – 59 चीनी ऐप को बैन करने पर भारत को मिला अमेरिका का साथ, कहा- इससे देश की अखंडता और संप्रभुता बढ़ेगी

वीक के नाम टेस्ट क्रिकेट में लगातार सबसे ज्यादा शतक लगाने का विश्व रिकॉर्ड भी दर्ज है। उन्होंने इंग्लैंड और भारत के खिलाफ 1948 में लगातार 5 टेस्ट शतक जड़े थे। उन्होंने इन दोनों देशों के खिलाफ लगातार 128, 194, 162 और 101 रन की पारियां खेली थीं। वीक्स लगातार छठी सेंचुरी लगाने का रिकॉर्ड बना सकते थे, लेकिन वो 90 रन बनाकर आउट हो गए। अगर वीक्स छठा शतक जड़ देते तो फर्स्ट क्लास क्रिकेट के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेते।

बात दें कि सर एवर्टन वीक्स  को 1995 में नाइटहुड की उपाधि दी गई थी। उन्‍हें जनवरी 2009 में आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था। वीक्स ने 1957-58 में पाकिस्तान के खिलाफ चोट के बाद क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। क्रिकेट से संन्यास के बाद वीक्स ने कुछ मैचों में कोचिंग की। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के लिए प्रशासक और मैच रेफरी रहे। वीक्स ने 1979 विश्व कप में कनाडा की कोचिंग की थी।  वेस्टइंडीज विश्वविद्यालय के बारबाडोस में इस तिकड़ी के नाम से डब्ल्यूएस ओवल का विश्वविद्यालय का नाम रखा गया।

source by : https://www.livehindustan.com/

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: