Headlinesजॉब्स

विश्व छात्र दिवस 2021: डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम से कैसे जुड़ा यह दिन, जानिए सब कुछ

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्तूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। उन्होंने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन (इसरो) में वैज्ञानिक और प्रशासक के तौर पर अपनी सेवाएं दीं।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्तूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। उन्होंने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन (इसरो) में वैज्ञानिक और प्रशासक के तौर पर अपनी सेवाएं दीं। डॉ. कलाम ने भारत का 11वां राष्ट्रपति बनने से पहले भारत के नागरिक अंतरिक्ष और सैन्य मिसाइल कार्यक्रमों को विकसित करने में भी अमूल्य योगदान दिया था।

भारत का मिसाइलमैन कहे जाने वाले कलाम को छात्रों को दिए गए उनके ज्ञानवर्धक भाषणों के लिए भी जाना जाता है। साल 2010 से संयुक्त राष्ट्र संगठन (यूएनओ) डॉ. कलाम के प्रयासों को सम्मानित करने के लिए 15 अक्तूबर को विश्व छात्र दिवस के रूप में मना रहा है। पिछले साल इस दिवस की थीम ‘लर्निंग फॉर पीपल, प्लैनेट, प्रॉस्परिटी एंड पीस’ थी। डॉ. कलाम का निधन 27 जुलाई 2015 के आईआईएम शिलांग में भाषण देते वक्त हृदय गति रुकने से हो गया था।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: